spot_imgspot_img

Vaishakh Purnima: वैशाख पूर्णिमा को क्यों कहा जाता है बुद्ध पूर्णिमा, जानिए पूजा तिथि, मुहूर्त और व्रत के लाभ

Vaishakh Purnima Kab Hai 2022: बौद्ध धर्म के संस्थापक महात्मा बुद्ध का जन्म वैशाख पूर्णिमा को हुआ था। इसलिए इसे बुद्ध पूर्णिमा, वैसाखी बुद्ध पूर्णिमा या वेसाक के नाम से भी जाना जाता है।

Vaishakh Purnima Kab Hai 2022: वैशाख मास की पूर्णिमा इस वर्ष 16 मई सोमवार को पड़ रही है। इस दिन बौद्ध धर्म के संस्थापक भगवान बुद्ध का जन्म नेपाल में लुंबिनी नामक स्थान पर हुआ था, इसलिए वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा भी कहा जाता है। वैशाख पूर्णिमा का हिंदू धर्मग्रंथों और बौद्ध धर्मग्रंथों में विशेष महत्व है। भगवान बुद्ध को भगवान विष्णु के नौवें अवतार के रूप में जाना जाता है। इसलिए वैशाख पूर्णिमा में भगवान बुद्ध और भगवान विष्णु की पूजा के साथ-साथ चंद्रदेव की भी पूजा की जाती है।

पूजा तिथि और मुहूर्त

इस वर्ष वैशाख पूर्णिमा का व्रत 16 मई सोमवार को रखा जाएगा। बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 15 मई दिन रविवार को 12:45 से 16 मई दिन सोमवार को 9:43 तक रहेगा।

वैशाख पूर्णिमा के व्रत के लाभ

वैशाख पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। इस वर्ष इस दिन चंद्र ग्रहण पड़ने के कारण चंद्र देव की भी पूजा करनी है। बुद्ध पूर्णिमा पर बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग जहां भी होते हैं प्रकाश उत्सव मनाते हैं। दीप प्रज्ज्वलित करें और भगवान बुद्ध का जन्मदिन बड़े उल्लास के साथ मनाएं।

वैशाख पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु और चंद्र देव की पूजा करने से आर्थिक परेशानियों से राहत मिलती है। मानसिक विकारों से मुक्ति के साथ-साथ आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है। धन, यश और मान-सम्मान में भी वृद्धि होती है।

वैशाख पूर्णिमा के दिन, बौद्ध धर्म के अनुयायी, जो भगवान बुद्ध के आदर्शों का पालन करते हैं, भगवान बुद्ध के जन्म को बहुत खुशी और उल्लास के साथ मनाते हैं, उनकी शिक्षाओं का सम्मान करते हुए, सत्य और अहिंसा का पालन करते हैं।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img

Related Articles

spot_img

Get in Touch

0FansLike
3,584FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts