Chandra Grahan Kab Hai

Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण 16 मई सोमवार को लगने जा रहा है। इस दिन बुध पूर्णिमा भी है। आपको बता दें कि इस साल चार ग्रहण लगने जा रहे हैं जिसमें दो सूर्य और दो चंद्र ग्रहण होंगे। पहला सूर्य ग्रहण 30 अप्रैल को लग चुका है और अब साल का पहला चंद्र ग्रहण 16 मई को लगने जा रहा है।

मौसम में परिवर्तन के साथ आंधी-तूफान की आशंका

चंद्र ग्रहण के समय चंद्रमा वृश्चिक राशि में रहेगा। वृश्चिक राशि को ज्योतिष शास्त्र में जल तत्व की राशि बताया गया है। ऐसे में ग्रहण के बाद मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। ग्रहण के समय शनि और मंगल दोनों एक साथ कुम्भ राशि में होंगे। ऐसे में आंधी-तूफान की प्रबल संभावना रहेगी। यह चंद्र ग्रहण भारत में तो नहीं दिखाई देगा, लेकिन कुछ राशियों पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

चंद्र ग्रहण का मेष राशि पर प्रभाव

मेष राशि के जातकों को चंद्र ग्रहण के कारण स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। अगर आप पहले से ही किसी बीमारी से परेशान हैं तो इस दौरान आपको अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। आपकी राशि से अष्टम भाव में ग्रहण लगने वाला है ऐसे में बेवजह की चिंता भी आपको परेशान कर सकती है। पारिवारिक जीवन में आपको इस दौरान किसी से बहस नहीं करनी चाहिए, नहीं तो समीकरण बिगड़ सकते हैं। नौकरीपेशा जातकों के जीवन में अचानक बदलाव देखने को मिल सकता है, कुछ लोगों का ना चाहते हुए भी तबादला हो सकता है। हालांकि इस दौरान मेष राशि के छात्र कठिन विषयों को बखूबी समझ सकते हैं।

चंद्र ग्रहण का मिथुन राशि पर प्रभाव

चंद्र ग्रहण आपकी राशि से छठे भाव में होगा इसलिए इस दौरान आपको अपने विरोधियों से सावधान रहने की आवश्यकता होगी। जरूरत से ज्यादा किसी पर भरोसा करने से धोखा हो सकता है। अगर आप कोर्ट-कचहरी के मामलों में फंसे हैं तो इस समय कोई भी फैसला सोच-समझकर ही लें। कुछ जातकों को पेट से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। कोई बुरी खबर आपको परेशान कर सकती है। मिथुन राशि के लोगों को भी इस समय कर्ज के लेन-देन से दूर रहना चाहिए। कुछ मानसिक रूप से परेशान रह सकते हैं। जल्दबाजी में बड़े फैसले लेने से बचें। धैर्य रखने से लाभ होगा।

चंद्र ग्रहण का कर्क पर प्रभाव

चंद्रमा आपकी ही राशि का स्वामी है इसलिए चंद्र ग्रहण अन्य राशियों की तुलना में आपके लिए थोड़ा अधिक नकारात्मक हो सकता है। इसलिए आपको चंद्र ग्रहण के दौरान भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए और चंद्र ग्रह के बीज मंत्र का जाप करना चाहिए। इस दौरान छात्रों की एकाग्रता भंग हो सकती है। दाम्पत्य जीवन में भी आपको सावधान रहना चाहिए। जीवनसाथी के साथ वाद-विवाद से बचें, अन्यथा अलगाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। मन को नियंत्रित करने के लिए इस राशि के जातकों के लिए प्राणायाम करना फायदेमंद साबित होगा।

वृश्चिक राशि पर चंद्र ग्रहण का प्रभाव

चंद्र ग्रहण की घटना आपकी ही राशि में होगी इसलिए इस दौरान आपको मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वृश्चिक राशि के लोगों को चंद्र ग्रहण के दिन वाहन चलाते समय भी सावधान रहना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को इस दौरान योग-ध्यान करने से लाभ मिल सकता है। पारिवारिक जीवन में माता-पिता के साथ वाद-विवाद से बचें। अगर आप शारीरिक रूप से सक्रिय रहेंगे तो आपकी कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

चंद्र ग्रहण का धनु राशि पर प्रभाव

चंद्र ग्रहण आपकी राशि से बारहवें भाव में होगा इसलिए इस दौरान अनचाहे खर्चे हो सकते हैं। इस दौरान आपको निवेश करने से बचना चाहिए। संचित धन में कुछ कमी हो सकती है। धनु राशि के कुछ लोगों को आंखों से जुड़ी कोई समस्या भी हो सकती है, इसलिए अपना ध्यान रखें। सामाजिक प्रतिष्ठा आपके मान-सम्मान को बनाए रखेगी इसलिए आपको इस दौरान बोलने से ज्यादा दूसरों की बातों को सुनना चाहिए। हालांकि इस राशि के लोग विदेश व्यापार कर रहे हैं और इस अवधि में लाभ कमा सकते हैं।

यह भी पढ़ें – Vaishakh Purnima: वैशाख पूर्णिमा को क्यों कहा जाता है बुद्ध पूर्णिमा, जानिए पूजा तिथि, मुहूर्त और व्रत के लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published.