Chanakya Niti

Chanakya Niti: जीवन में धन का विशेष महत्व है। धन की देवी लक्ष्मी हैं। लेकिन लक्ष्मी जी इन कामों से नाराज हो जाती हैं।

Chanakya Niti: चाणक्य नीति के अनुसार, हर व्यक्ति में अमीर बनने की इच्छा होती है। मनुष्य धनवान बनने के लिए हर संभव प्रयास करता है। आचार्य चाणक्य के अनुसार जब लक्ष्मी जी की कृपा होती है तो व्यक्ति के जीवन में धन की वर्षा होती है। पैसा आने पर जीवन आसान हो जाता है। व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ता है। सम्मान में वृद्धि होती है। लेकिन जो लोग जीवन में ये गलतियां करते हैं, लक्ष्मी जी उन्हें छोड़ देती हैं।

चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य लिखते हैं कि व्यक्ति को धन संचय करना चाहिए, तभी वह भविष्य में आने वाली परेशानियों से बच सकता है। इसके साथ ही चाणक्य आगे कहते हैं कि व्यक्ति को धन-सम्पदा त्यागकर करके भी अपनी पत्नी की रक्षा करनी चाहिए। लेकिन जब आत्मा रक्षा की बात आती है, तो उसे धन और पत्नी दोनों को तुक्ष्य समझना चाहिए।

संकट की घड़ी में पैसा ही सच्चा दोस्त

चाणक्य नीति के अनुसार, कलियुग में पैसा एक प्रमुख साधन है, जिसके उपयोग से जीवन को सरल और आसान बनाया जा सकता है। वह अपनी चाणक्य नीति में बताते हैं कि संकट के समय जब सभी लोग चले जाते हैं तो पैसा एक सच्चे दोस्त की भूमिका निभाता है, इसलिए धन के उपयोग में विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।

पैसा व्यर्थ नहीं खर्च करना चाहिए

चाणक्य नीति के अनुसार कभी भी फालतू की चीजों पर पैसा खर्च नहीं करना चाहिए। जो लोग दूसरों के सामने पैसा दिखाते हैं, अपनी आमदनी से ज्यादा पैसा खर्च करते हैं, वे हमेशा परेशान रहते हैं। ऐसे लोगों के जीवन में सुख-शांति नहीं रहती। लक्ष्मी जी उन लोगों को कभी भी अपना आशीर्वाद नहीं देती हैं जो दिखावा करते हैं और पैसे का सम्मान नहीं करते हैं। पैसा बचाना चाहिए। धन की बचत व्यक्ति को संकटों से बचाती है।

यह भी पढ़ें – Mother’s Day: इस मदर्स डे पर इन प्यारे कामों से बढ़ाएं अपनी मां और अपने बीच का प्यार

यह भी पढ़ें – Ganga Saptami 2022: जाने गंगा सप्तमी के दिन क्या करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.